असफलता के 22 प्रमुख कारण | 22 Major Causes Of Failure By Napoleon Hill

असफलता के 22 प्रमुख कारण |  22 Major Causes Of Failure By Napoleon Hill

असफलता के 22 प्रमुख कारण |  22 Major Causes Of Failure By Napoleon Hill
असफलता के 22 प्रमुख कारण |  22 Major Causes Of Failure By Napoleon Hill

Hello Friends,आपका स्वागत है learningforlife.cc में। ज्यादातर लोग गंभीरता से प्रयास करते है और असफल हो जाते है और बहुत कम लोग ही सफल होते है,ऐसा कायो ? इस पोस्ट में असफलता की आदते बताई जा रही है। कही आप इन्ही आदतो की बजह से असफल तो नहीं हो रहे है।

1.जीवन में अच्छी तरह परिभाषित लक्ष्य का अभाव

ऐसे आदमी के लिए सफलता की कोई आशा नहीं है जिसका कोई केंद्रीय लक्ष्य या निश्चित लक्ष्य नहीं होता जिस पर वह निशाना साधे। मैंने जिन लोगों का विश्लेषण किया उनमें से 98 प्रतिशत के पास ऐसा कोई लक्ष्य नहीं था। शायद यही उनकी असफलता का प्रमुख कारण था।

2.औसत दर्जे से ऊपर उठने की महत्वाकांक्षा का अभाव

हम ऐसे आदमी को कोई आशा प्रदान नहीं कर सकते जो उदासीन है और जीवन में आगे नहीं बढ़ना चाहता और उसमें कीमत चुकाने की इच्छा भी नहीं है।

3.अपर्याप्त शिक्षा 

यह एक ऐसी कमी है जिसे आसानी से पूरा किया जा सकता है। शिक्षित व्यक्ति बनने के लिए सिर्फ कॉलेज की डिग्री ही काफ़ी नहीं होती। शिक्षित आदमी वह होता है जिसने वह चीज़ पाना सीख लिया है जो वह जीवन में पाना चाहता है और इस प्रक्रिया में वह दूसरों के अधिकारों का हनन नहीं करता। शिक्षा में सिर्फ ज्ञान ही शामिल नहीं है, बल्कि ज्ञान का प्रभावी और सतत प्रयोग भी शामिल है। लोगों को सिर्फ उनके ज्ञान के लिए ही पैसे नहीं मिलते, बल्कि इस बात के पैसे मिलते हैं कि वे अपने ज्ञान का किस तरह उपयोग करते हैं।

4.आत्म-अनुशासन की कमी 

अनुशासन स्वयं पर नियंत्रण से आता है। इसका अर्थ यह है कि इंसान को सभी नकारात्मक गुणों को नियंत्रण में रखना चाहिए। खुद को अनुशासित करना सबसे कठिन कार्य है। अगर आप खुद को नहीं जीत पाते, तो आप ख़ुद से हार जाएंगे। शीशे के सामने खड़े होने पर आपको अपना सबसे अच्छा दोस्त और अपना सबसे बड़ा दुश्मन एक साथ खड़ा नज़र आएगा।

5.बुरा स्वास्थ्य

कोई भी आदमी अच्छे स्वास्थ्य के बिना उल्लेखनीय सफलता का सुख नहीं भोग सकता। बुरे स्वास्थ्य के कई कारणों पर काबू पाया जा सकता है। इनमें से मुख्य हैं :

  • स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भोज्य पदार्थ अधिक मात्रा खाना।
  • विचार की बुरी आदतें; नकारात्मक बातें बोलना।
  • सेक्स की अधिकता या उसका ग़लत प्रयोग।
  • उचित शारीरिक व्यायाम का अभाव।
  • ग़लत तरीक़े से साँस लेने के कारण स्वच्छ हवा की अपर्याप्त आपूर्ति।

6.टालमटोल

यह सफलता के सबसे आम कारणों में से एक है। टालमटोल करने वाला बूढ़ा आदमी हर इंसान की छाया में खड़ा रहता है और इंतज़ार करता है कि कब उसे सफलता के अवसर को बिगाड़ने का मौक़ा मिले। हममें से अधिकांश लोग जीवन भर असफल होते रहते हैं क्योंकि हम किसी महत्वपूर्ण कार्य को शुरु करने से पहले “सही समय” का इंतज़ार करते हैं। इंतज़ार मत कीजिए। समय कभी पूरी तरह सही नहीं होगा। जहाँ आप खड़े हैं वहीं पर शुरू कर दीजिए और आपके पास जो औज़ार है उन्ही से काम करना शुरू कर दीजिए। जब आप आगे बढ़ेंगे तो बेहतर औज़ार आपको अपने आप मिल जाएंगे।

7.लगन का अभाव

हममें से अधिकांश लोग शुरुआत करने में तो अच्छे होते हैं परंतु अपने शुरू किए गए कामों को पूरा करने में
बहुत कमज़ोर होते हैं। यही नहीं, लोगों की यह आदत होती है कि वे पराजय की संभावना नज़र आते ही हिम्मत हार जाते हैं। लगन का कोई विकल्प नहीं होता। वह आदमी जो लगन को अपना मंत्र बनाता है यह पाता है कि असफलता आखिरकार थक चुकी है और उसके जीवन से हमेशा-हमेशा के लिए दूर जा चुकी है। असफलता लगन का मुकाबला नहीं कर सकती।

8.नकारात्मक व्यक्तित्व  

ऐसे आदमी के लिए सफलता की कोई आशा नहीं है जो नकारात्मक व्यक्तित्व के कारण लोगों को अपने से दूर कर देता है। सफलता शक्ति के प्रयोग के द्वारा आती है। और शक्ति दूसरे लोगों के सहयोगपूर्ण प्रयासों के द्वारा हासिल की जाती है। नकारात्मक व्यक्तित्व से सहयोग नहीं मिलता।

9.कामेच्छा पर नियंत्रण का अभाव  

सेक्स की ऊर्जा उन सभी प्रेरक ऊर्जाओं में सबसे शक्तिशाली है यह सबसे सशक्त भाव है इसलिए इसे नियंत्रित किया जाना चाहिए और रूपांतरण के द्वारा दूसरे चैनलों में बदलना चाहिए।

10.“कुछ नहीं के बदले कुछ पाने” की अनियंत्रित इच्छा 

जुए की प्रवृत्ति लाखों लोगों को असफल बना देती है। इसका प्रमाण 1929 के वॉल स्ट्रीट क्रैश के अध्ययन में पाया जा सकता है जिस दौरान लाखों लोगों ने स्टॉक मार्जिन पर जुआ खेलकर पैसा बनाने की कोशिश की।

11.निर्णय की उचित शक्ति का अभाव  

जो लोग सफल होते हैं वे तत्काल निर्णय पर पहुंचते हैं और अगर वे उन निर्णयों को बदलते हैं तो बहुत देर से बदलते हैं। जो लोग असफल होते हैं वे या तो निर्णय ही नहीं ले पाते या फिर बहुत देर से निर्णय लेते हैं परंतु वे अक्सर अपने निर्णय बदल लेते हैं और पल भर में बदल लेते हैं।अनिर्णय और टालमटोल जुड़वाँ भाई हैं। जहाँ एक मिलेगा, आम तौर पर दूसरा भी वहीं पर मिलेगा। इन जुड़वाँ भाइयों को मार डालें इससे पहले कि वे आपको असफलता के खूटे से बाँध दें।

12.विवाह में गलत जीवनसाथी का चुनाव 

यह असफलता का सबसे आम कारण है। विवाह का रिश्ता लोगों को अंतरंग रूप से करीब लाता है। जब तक यह रिश्ता सुखद तालमेल का न हो,असफलता निश्चित रूप से आपका पीछा करेगी। इससे भी बड़ी बात यह है कि यह असफलता का एक ऐसा रूप होगा जिसमें दुख और कष्ट हैं जो महत्वाकांक्षा के सभी लक्षणों को नष्ट कर देंगे।

13.अति-सावधानी 

वह व्यक्ति जो ज़रा भी जोखिम नहीं लेता आम तौर पर उसे वही मिलता है जो बचा रहता है क्योंकि दूसरे लोग, जिन्होंने जोखिम लिया, अच्छी चीज़ें चुनकर ले जा चुके हैं। अति-सावधानी भी उतनी ही बुरी है जितनी कि कम-सावधानी। दोनों तरह की अति से बचें। यह न भूलें कि जीवन में जोखिम का तत्व हमेशा रहता है।

14.बिज़नेस में सहयोगियों का ग़लत चुनाव 

यह बिज़नेस में असफलता के सबसे आम कारणों में से एक है। व्यक्तिगत सेवाओं की मार्केटिंग में आपको ऐसा नियोक्ता चुनने में बहुत सावधानी बरतनी होगी जो आपको प्रेरणा दे और जो स्वयं बुद्धिमान और सफल हो। हम उन लोगों का अनुसरण करते हैं जिनके साथ हम क़रीबी संपर्क में रहते हैं। ऐसा नियोक्ता चुनें अनुसरण करने लायक हो।

15.अंधविश्वास और पूर्वाग्रह 

अंधविश्वास डर का एक रूप है। यह अज्ञान की निशानी भी है। जो लोग सफल होते हैं वे अपने दिमाग खुले रखते हैं और किसी चीज़ से नहीं डरते।

16.व्यवसाय का ग़लत चुनाव

कोई आदमी किसी ऐसी लाइन में सफल नहीं हो सकता जिसे वह पसंद न करता हो। व्यक्तिगत सेवाओं की मार्केटिंग में सबसे महत्वपूर्ण क़दम है एक ऐसा व्यवसाय चुनें जिसमें आप अपने आपको पूरे उत्साह से झोंक
सकें।

17.प्रयास में एकाग्रता का अभाव 

सभी व्यवसायों की थोड़ी-बहुत जानकारी रखने वाला व्यक्ति किसी भी व्यवसाय में विशेष निपुण नहीं होता। अपने सभी प्रयासों को एक निश्चित प्रमुख लक्ष्य पर केंद्रित और एकाग्र करें।

18.दूसरों के साथ सहयोग करने की अयोग्यता 

ज्यादातर लोग जीवन में अपने पद और बड़े अवसर इस गलती के कारण गॅवा देते हैं। इस कारण जितने लोग असफल होते हैं, उतने बाकी सभी कारणों को मिला देने पर भी नहीं होते। यह एक ऐसी गलती है जो कोई भी समझदार बिजनेसमैन या लीडर सहन नहीं करेगा।

19.जान-बूझकर की गई बेईमानी 

ऐसे आदमी के लिए कोई आशा नहीं है जो जानबूझकर बेईमानी का रास्ता चुनता है। देर-सबेर उसे अपने कार्यों का फल मिलेगा और इसका परिणाम यह हो सकता है कि उसकी प्रतिष्ठा मिट्टी में मिल जाए या वह अपनी स्वतंत्रता तक गँवा बैठे।

20.घमंड और अहंकार 

यह गुण लाल बत्तियाँ हैं जो दूसरों को दूर रहने की चेतावनी देती हैं। यह सफलता के लिए घातक हैं।

21.सोचने के बजाय अनुमान लगाना 

ज़्यादातर लोग इतने उदासीन या आलसी होते हैं कि वे सही सोचने के लिए आवश्यक पूरे तथ्य हासिल करने का कष्ट नहीं उठाते। वे अंदाज़े के आधार पर आए “विचारों पर या बिना सोचे-समझे झटपट निर्णय करना पसंद करते हैं।

22.पूँजी का अभाव 

यह उन लोगों में असफलता का एक आम कारण है जो पहली बार बिज़नेस में उतरते हैं और उनके पास अपनी
ग़लतियों के झटके को सहन करने के लिए पूँजी का पर्याप्त रिज़र्व फंड नहीं होता, जिसके द्वारा वे अपने आपको बाज़ार में तब तक बनाए रख सकें जब तक कि उनकी प्रतिष्ठा स्थापित न हो जाए।

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *