Steve Jobs : The Exclusive Biography By Walter Isaacson Book Summary In Hindi

Steve Jobs : The Exclusive Biography By Walter Isaacson Book Summary In Hindi

Steve Jobs : The Exclusive Biography By Walter Isaacson Book Summary In Hindi
Steve Jobs : The Exclusive Biography By Walter Isaacson Book Summary In Hindi

        💕Hello Friends,आपका स्वागत है learningforlife.cc में। यह Book Steve Jobs के शुरुआती अनुभव से लेकर दुनिया में एक Tech Icon के सिखर पर पहुंचने का बर्डन है। वह एक ऐसे व्यक्ति थे जो पुरे संसार को Technology से बदलना चाहते थे। सबसे ज्यादा बिकने बाली इस Biography के द्वारा आपको ये पता चल जायेगा कि कैसे Steve Jobs के Perfectionism और Intensity ने उनको महान चीजे हासिल करने की तरफ प्रेरित किया और उनकी यही  विशेषता कर्मचारियों और सहयोगियो के साथ सम्भन्द में मतभेदों और असहयोग का कारण भी बनी। यह Post ऐसे Tech Icon के दिलचस्प जिन्द्की के बारे में है जिसने कम उम्र में ऐसी Partnership की नीव रक्खी जो आगे चल कर संसार की सबसे ज्यादा Valuable Technology Company में से एक बनी और इस Post आपको ये भी पता चलेगा कैसे LSD और अध्यात्म ने आज के Gadgets को बनाने में अहम् भूमिका निभाई है। क्यों woody or buzz lightyear Steve Jobs के बिना कोई अस्तित्व नहीं रखते थे और क्यों Jobs ने विश्बास कर लिया था की वोअपने Cancer का Acupuncture और फल खा कर इलाज कर सकते है।

          24 Feb 1955 को Abdulfattah John Jandali और Joanne Schieble Simpson के यहाँ एक बेटे का जन्म हुआ।  लेकिन ये दोनों इस बच्चे का पालन-पोषण नहीं कर पाए क्योकि Schieble एक सख्त कैथलिक परिवार से थी और उनका परिवार एक मुस्लिम वयक्ति के बच्चे की माँ होने के कारण उन्हें छोड़ सकता था। इसलिए उन्हें इस बच्चे को adoption के लिए देना पड़ा और इसलिए ये बच्चा Silicon Valley में रहने बाले Paul Jobs और Clara Jobs द्वारा गोद ले लिया गया जीनोने इसे Stevens का नाम दिया। Paul Engine Technician थे बाद में Car Mechanic का काम करने लाये,Paul ने ही Stevens का Engineering और Designing से पहला परिचय कराया। High school के दौरान Stevens की मुलाकात Steve Wozniak से हुई और तुरंत ही वे दोस्त बन गए। Wozniak, Jobs से 5 साल बड़े थे और पहले ही Computer Technician थे। Wozniak ने  Jobs को Computer के बारे में बहुत कुछ सिखाया। बो दोनों Electronic दुनिया के ज्ञान को बढ़ाने में और खोज-बीन में लगे रहते थे। 1971 में इन दोनों ने मिलकर पहला Product Market में launch किया जो था BLUE BOX जिसके द्वारा लम्बी दुरी के Phone Calls मुफ्त में किये जा सकते थे। इससे उन्हें ये समझ में आ गया कि Wozniak का तकनीकी ज्ञान और Jobs की दूरदर्शिता से वह क्या कर सकते है।

          1972 में Jobs ने Read College में Admission ले लिया जो Oregon में इस्थित था। Jobs वहा दोस्तों के साथ बहुत घंभीर्ता से अध्यात्म और LSD का पप्रयोग करने लगे। उन्हें ऐसा लगने लगा कि इसी दवाई की बजह से उन्हें जिन्दकी के पहलु जानने का मौका मिला। दुनिया के पूरबी हिस्से में अध्यात्म का पता लगाने के लिए Jobs ने 7 महीने तक भारत की यात्रा की। बौद्ध धर्म ने Jobs के जीवन में गहरा प्रभाव डाला और उनका परिचय अंतर ज्ञान की शक्ति से कराया। Jobs के दोनों सौक अध्यात्म और LSD ने उन्हें बिशेस प्रकार की एकाग्रता बिकसित करने में मदद की।जो बाद में Jobs के स्वभाव का कारण वनी क्योकि वो किसी भी चीज का निस्चय कर लेते तो उनके अनुसार होना था।

          1970 के शुरुआती महीनो में ही लोग Computer को व्यक्तिगत साधन के रूप में देखने लगे थे। जिस समय Jobs Drugs और बुद्धिस्म में दुबे हुए थे तभी उन्होंने अपने लिए एक Business को सुरु करने का सपना भी देखना सुरु कर दिया और उसी समय उनके दोस्त Steve Wozniak Modern  Professional Computer का idea ले कर आए। उस समय Computer के अलग-अलग तरह के Hardware Component होते थे जो लीगो को उनका इस्तमाल करना मुश्किल बना देते थे। Steve Wozniak ने ऐसे PC(Personal Computer) की कल्पना की जिसमे Keyboard,Mouse,screen सब कुछ हो और व्यक्तिगत रूप से इस्तमाल किया जा सके। सुरु में Steve Wozniak ने इस Design को Free में देना का फैसला किया लेकिन Jobs ने Wozniak को समझाया की इससे हम लाभ उठा सकते है। इस तरह 1976 में शुरुआत में केबल 1300 dollar में Jobs और Wozniak ने मिलकर APPLE COMPUTERS की इस्थापना की। जिस दिन उन्हें Company का नाम रखना था उसी दिन Jobs एक Apple के बगीचे में गए थे क्योको Apple बहुत ही छोटा और जाना पहचाना नाम था। ये नाम उनके दिमाग में बैठ गया था। एक महीने में Jobs और Wozniak ने कड़ी मेहनत कर 100 Computers अपने हाथो से बना डाले,जिनमे से आधे एक लोकल डीलर को ही बेच दिए और आधे मित्रो, रिस्तेदारो और कस्टमर्स को।  ठीक 30 दिन बाद Apple का पहला computer ‘APPLE 1’ उनके लिए मुनाफा ले कर आया था। Jobs और Wozniak एक Powerful Team की तरह थे क्योकि Wozniak अपनी Engineering में Best और Jobs अपने Vision में,इसके बाद दोनों को ये समझ में आ गया था कि उनका Product दुनिया को बदलने की तागत रखता है।

          जो लोग Jobs को करीब से जानते थे उनका मानना था कि Jobs विचित्र इंसान थे ,अगर किसी से कुछ भी गलत होता था तो वो अपने गुस्से को control नहीं कर पाते थे और उनपे बरस पड़ते थे। Jobs के बारे में कहा जाता है कि वे किसी को न माफ करने बाले एक आदर्शबादी इंसान थे। Jobs चाहते थे कि Apple 2 दोषहीन या Perfect हो,उसके सारे फीचर्स पूरी तरह से ब्यबस्थित हो और कही भी कोई खराबी न हो। लेकिन 1977 में इस वेहद थका देने वाले सफर के बाद Apple 2 को Release किया गया। Michael Scott को president बना दिया गया था जिसका मुख्य काम Jobs के ऊपर control रखना था। Scott वो सारे मुश्किल मसले जिनका  सामना बाकि कर्मचारी नहीं कर सकते थे उनका सामना वह करता था। इसके बाद Jobs और Scott के बिच मतभेद चरम पर पहुंचने लगे। Jobs को महसूस हुआ की Apple पर उनका नियंत्रण खोता जा रहा है। Scott Jobs के perfection पर control नहीं रखना चाहते थे वे उन्हें Practical बनाना चाहते थे। उदहारण के  लिए जब 2000 colors में से Jobs ने कोई रंग पसंद नहीं किया तब Scott ने आगे आ कर वताया कि Apple 2 के लिए beach color ठीक है। लकिन company अच्छी तरह चल रही थी तो इनके मतभेद मैनेज किये जा सकते थे।

            Apple 2 के लगभग 60 लाख computer बिके,जिसने इस computer industry को आगे बढ़ने की प्रेरणा दी, पर Jobs के लिए अब भी ये पूर्ण सफलता नहीं थी क्योकि ये Wozniak की Invasion थी Jobs की नहीं। Jobs ने Macintosh 1 पर काम करना शुरू कर दिया था। जो Apple 2 का Successor था और आगे चलकर Personal Computer की दुनिया को बदल डाला और Jobs को Tech icon के रूप में स्तापित किया। जब MAC भी पूरी तरह Jobs का खुद का idea नहीं था बल्कि Jef Raskin से चुराया था जो की human–computer interface के expert थे पर Raskin अपने project से बहुत दूर था इसलिए Jobs ने इसपे काम करना सुरु किया पर ऐसी powerful machine बनाई जो Microprocessor पर चलती थी और काफी अच्छे Graphics provide करती थी और mouse द्वारा control किया जा सकता था। Macintosh एक बेमिसाल सफलता के रूप में सामने आया जिसका कुछ कारण Ads थे। Macintosh ने Jobs को Rich और बेहद famous बना दिया। Jobs popular तो हो गए लेकिन उनका perfectionism और कर्मचारीओ के साथ हत्याचार की हदो तक जाने बाला behavior पहले की तरह था जिसका company पर बुरा असर पड़ा इसलिए 1985 में board directors ने निर्णय लिया कि jobs को company छोड़ देनी चाहिए।

           Apple से निकल दिए  जाने के दुःख से बाहर आने के बाद Jobs ने Educational market को अपना target बनाकर एक नए business की शुरुआत की और computer बनाया जिसका नाम था NEXT. Next को Jobs ने अपनी designing की महत्वाकांक्षा को पूरा करने में उपयोग किया। Jobs ने केवल logo designing के लिए 1 लाख dollar फीस pay की और insists किया कि next computer का case perfect cube जैसा होना चाहिए। सिर्फ इसके लिए case को अलग से produce करना पड़ा और एक ऐसी चीज के 6 लाख 50 हज़ार dollar कीमत देनी पड़ी और यही Jobs का न compromise करने बाला रबैया Next की मौत का कारण बना। आखिर में ये मशीन लोगो की पहुंच से बहार काफी महगी भी सिद्ध हुई। ज्यादा दाम और छोटी software library की बजह से ये कुछ खास नहीं कर पाया। इसी दौरान Jobs ने Pixar नाम की company के अधिकांश share खरीद लिए और company के chairman बन गए। Jobs ने next में इतना नुकसान होने के बावजूद 50 million dollar Pixar में लगा दिए। आर्थिक नुकसान के कुछ सालो बाद Pixar studio ने Tin Toy नाम की animated film बनाई जिसमे computer animation का नया रूप सामने आया और इस film को 1988 का academy award मिला। 1996 में Disney वालो के साथ partnership में उन्होंने पहली Feature film produce की,Toy Story जो साल की सबसे ज्यादा आमदनी करने वाली film बनी। जब Pixar की लोगो में पहचान बानी तब Jobs का share company में 80% हो गया था और ये रकम उनके शुरुआती investment से 20 गुना ज्यादा थी।

             Business में बहुत कुछ सिखने के बाद और Apple से 12 साल दूर रहने के बाद Steve Jobs एक बदले हुए इंशान थे उन्होंने अपनी Personal life पर ध्यान देना सुरु कर दिया था और अपनी adopted माँ के मरने के बाद उन्होंने अपनी biological माँ से मिलने गए ,उनकी माँ बहुत सर्मिन्दा थी की उन्होंने Jobs को गोद दे दिया था। Jobs को बहुत आष्चर्य हुआ जब उन्हें पता चला उनकी एक बहन भी है जिसका नाम Mona Simpson था। 1996 में Mona Simpson ने एक Novel publish की जिसका नाम था “Regular Guy” जिसमे उसने Jobs के बारे बहुत कुछ लिखा था। पर Jobs ने उसे कभी नहीं पड़ा क्योकि वो अपनी नई मिली बहन से गुस्सा नहीं होना चाहते थे। इसी दौरान वो Laurene Powell से मिले और अपने बूढ़े जेन गुरु के आसीर्बाद से दोनों ने 1991 में शादी कर ली। Laurene तब उनके पहले बेटे Reed Paul Jobs के साथ pregnant थी बाद में इस जोड़े के दो बच्चे और हुए Erin और Eve.

            Apple की चमक फीकी पड़ती जा रही थी। Jobs के Apple company छोड़ने के बाद Apple एक company के रूप में असफल होने लगी और इसे रोकने के लिए Gil Amelio को नया CEO बनाया गया जो जानते थे कि company को आगे बढ़ने के लिए नए ideas की जरूरत है इसलिए Gil Amelio ने 1997 में Next के software को अपनाने का प्लान बनाया और Jobs को apple का नया adviser. Apple में बापस आते ही Jobs ने जितना control manage कर सकते थे उतना control ले लिया। साथ ही अपनी सकती को और बढ़ाने के लिए अपने Next के favorite employee को Apple में top ranks पर job दे दी और इस समय apple company board ने सोचा  Gil Amelio company को नहीं बचा पा रहे है और ऐसे में company को Jobs के साथ एक और chance लेना चाहिए। company ने Jobs को अपना नया CEO बनने का offer दिया। जिसे Jobs ने तुरंत डुकरा दिया और adviser के पद पर बने रहने के लिए जोर दिया। Apple में Jobs ने adviser के रूप में अपने status का भरपूर स्तमाल किया,यहा तक की उसने board को resign करने पर मज़बूर कर दिया। Jobs को ऐसा महसूस हुआ बो लोग ही company को transform करने के लिए की जा रही उसकी progress को कम कर रहे है। एक adviser के रूप में Jobs ने अपने competitor Microsoft से भी partnership की और उनसे Microsoft office for mac बनवाया और उनसे सालो से चली आ रही दुश्मनी को ख़त्म कर apple company का stock आसमान छूने लगा। बहुत hesitation के बाद Jobs apple के नए CEO बनने को तैयार हो गए और कंपनी से कुछ ही products पर focus करने की माग की। Jobs ने apple company के बाकि computer manufactures से की गई licencing deal रद्द कर दी और company का ध्यान केबल professional और personal computer and laptop बनाने की तरफ मोड़ दिया। 1997 में company को 1.4 billion dollar का लॉस हुआ पर Jobs के CEO बनते ही 1998 में company को 309 million dollar का profit हुआ और Jobs ने company को बचा लिया।

             जब Jobs ने ये समझ लिया कि Jony Ive बहुत ही काबिल designer है तो उसने Jony Ive को अपने बाद सबसे बड़ी जगह दे दी और company में उसे अपने बाद दूसरा सबसे तागतवर आदमी बना दिया। इन दोनों ने मिलकर जो सबसे पहला product design किया वो था i mac जो आम जनता के लिए design किया गया एक desktop computer था जिसका price था 1200 dollar.अंदर और बहार हर तरफ से ये computer perfect था इसे 1998 में launch किया गया और i mac apple के इतिहास में fast selling computer बना। फिर Jobs को चिंता होने लगी कि apple के unique products technology के mega store में क्यों रखे जायगे और रखे जायगे तो खो जायेगे इसलिए उन्होंने apple store बनाने के बारे में team से कहा लकिन board ने इसका बिरोध किया लकिन अंत में board ने trial run की मंजूरी दे दी।Jobs ने well furnished store खोले जहा customers की छोटी से छोटी जरूरत का ख्याल रखा जाता था और product के बारे में detail में बताया जाता था।  2001 में पहला apple store खोला गया जो एक बड़ी सफलता थी। Jobs के designing और retailing की वजह से Apple को सफलता की नई उचाईयो तक पंहुचा दिया।

             Apple और i mac अपनी सफलता को आगे बढ़ाते हुए एक नई strategy के साथ आगे आए। Jobs ने अगला product portable music system बनाने का निर्णय लिया और 2001 में market में  i pod launch किया जो एक छोटी सी स्क्रीन के साथ new hard disk technology पर आधारित था। आलोचकों का मन्ना था कि music player के लिए कोई 399 या 400 dollar कभी खर्च नहीं करेगा लकिन consumers ने i pod इतना सफल बना दिया कि 2007 में उसकी बिक्री apple computer के revenue के 50% के बराबर हो गई। अगला कदम था i phone design करना ऐसे में jobs phone का प्लान बनाने लगे। 2007 में apple ने i phone launch किया जिसमे दो आधूनिक technology का स्तमाल किया गया पहली touch screen और दूसरी gorilla glass. Touch screen multi input के साथ process कर सकती थी और gorilla glass बेहद मजबूत था। इसके लिए भी आलोचना हुई की mobile phone के लिए 500 डॉलर कोन देगा पर फिरसे सबकुछ गलत सिद्ध हुआ क्योकि 2010 के खत्म होते ही पुरे mobile market की तुलना में 50% अधिक फायदा i phone को हुआ। Jobs का final कदम था tablet यानि i pad को launch करना apple ने इसे official January 2010 में launch कर दिया क्योकि jobs ने इसके बारे में market में पहले ही बता दिया था। i pad बहुत बड़ी सफलता लेकर आया पहले महीने 1 million और अगले 9 महीनो में 15 million i pad की बिक्री हुई। इसके बाद ये साफ हो गया कि jobs की digital hub की योजना technology की दुनिया में बेहद कामयाब हो गई है।

            Jobs हमेसा closed system को prefer करते थे क्योकि उन्हें लगता था closed system consumer को अच्छा अनुभव देता है ,jobs का ये vision हर चीज को control करने की इच्छा को दर्शाता था जो की consumer को अपना computer modified करने से रोकता था। उनके control करने के जूनून के कारण google और Microsoft के साथ उनके मतभेद हो गए। Microsoft के bill gates का business की तरफ दूसरा नजरिया था जिसमे उन्होंने अपनी company के OS और software को दूसरे manufactures के साथ register किया और उन्हें licence दिया। यहा तक की gates ने Macintosh  के लिए एक software बनाया था। बरसो की partnership jobs के कारण पूरी जिन्द्की की दुश्मनी में बदल गई। जब gates ने windows को introduce किया तब jobs ने अपने Macintosh का graphical interface को copy करने का आरोप लगा दिया जबकी सचाई ये थी इन दोनों कोम्पनिओ ने ये idea xerox नाम की company से लिया था। यहाँ तक की jobs ने google पर भी आरोप लगाया कि google ने iPhone के बहुत से signature features कॉपी किये है। jobs आखरी तक कहते रहे google और Microsoft ने apple के concepts और ideas को चुराया है पर Jobs के aggressive behavior का target केबल उनकी competing कंपनी ही नहीं बल्कि jobs apple के अंदर भी perfection के लिए लगातार लड़ते रहते थे और कर्मचारीओ की तरफ देखे तो उनके ऊपर आग बरसाना और गुस्से में भड़कना ये सब normal बात थी।

            Jobs को 2003 में एक रुटीन चेकउप में cancer होने का पता चल गया था। उन्होंने doctors की सलाह हो पूरी तरह अनदेखा कर दिया और परस्थिति से लड़ने का अपना अलग तरीका बनाया। jobs ने 9 महीने में अपना operation कराने से माना कर दिया बल्कि अपना इलाज सब्जिओ, फ्लो और Acupuncture से करने की कोसिस करने लगे। समय के साथ cancer बड़ा हो गया और आखिर jobs को surgery कराके हटाना पड़ा। पर फिर भी 2008 में कैंसर फिर से आ गया और jobs ने फिर diet में कुछ सब्जिया और फल लेने लगे और उन्होंने अपना 40 pounds बजन खो दिया। धीरे धीरे jobs liver transplant के लिए तैयार हो गए लेकिन उनके स्बास्थ ने एक गंभीर मोड़ ले लिया उसके बाद वो कभी recover नहीं हो पाए और 2011 में jobs की मर्त्यु हो गयी और अपने पीछे एक महान tech company को छोड़ गए। jobs ने मरने से पहले कहा  “I had very lucky career,a very lucky life,i have done the all i can do” .Apple के products में jobs की personality पूरी तरह reflect होती है और सारे ही apple products tightly closed integrated hardware और software का system है। Jobs के निधन के कुछ समय पहले ही apple ने सबसे valuable technology company के रूप में Microsoft को पीछे छोड़ दिया था।

***********************
यह Steve Jobs : The Exclusive Biography By Walter Isaacson Book की Summary है। यदि आप Detail में पढ़ना चाहते है तो इस Book को यहां से खरीद सकते है :-

📹YouTube पर देखें | watch on YouTube (Animated)

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *