Rich Dad’s Guide to Investing by Robert Kiyosaki Book Summary in Hindi

Rich Dad’s Guide to Investing by Robert Kiyosaki Book Summary in Hindi

Rich Dad's Guide to Investing by Robert Kiyosaki Book Summary in Hindi
Rich Dad’s Guide to Investing by Robert Kiyosaki Book Summary in Hindi

        💕Hello Friends,आपका स्वागत है www.learningforlife.cc में। इस पोस्ट में रिच डैड्स गाइड टु इंवेस्टिंग (Rich Dad’s Guide to Investing) by Robert Kiyosaki Book से हम जानेगे कि अमीर लोग किन किन चीजों में इंवेस्ट करते हैं जिससे वे समय के साथ ज्यादा अमीर बन जाते हैं, किस तरह से आप अमीरों की तरह invest करने के लिए खुद को तैयार कर सकते हैं। और उन गलतियों से कैसे बचे जो हमें कभी अमीर नहीं बनने देती है। 

1.दुनिया के 10% लोग 90% संपत्ति के मालिक हैं।

        अब से बहुत पहले पैरेटो ने अपना 80-20 का नियम दिया था। इस नियम के हिसाब से हमारी 80% कामयाबी सिर्फ 20% मेहनत का नतीजा होती है। लेकिन अगर हम इससे निकल कर पैसों की दुनिया में आए तो यहाँ पर 90% धन-दौलत सिर्फ 10% लोग ही लेकर जाते हैं। Wall Street के एक Article ने इस बात को साबित किया है। उसमें यह लिखा गया है कि चाहे Hollywood हो या Olympic, चाहे Business हो या Investing, इन सभी में जो 10% लोग सबसे ऊपर हैं उनके पास 90% संपत्ति है। लेकिन अब सवाल उठता है कि आखिर ऐसा क्यों है?

        अमीर लोग जिन चीज़ों में अपना पैसा इंवेस्ट करते हैं वो investment उन्हें बहुत ज्यादा अमीर बना दिया करती हैं। गरीब लोग उसमें इंवेस्ट नहीं कर पाते जिसकी वजह से वे सारी उम्र काम करने पर भी गरीब ही रहते हैं।

2.अमीर बनने के लिए सबसे पहले आपको अपने दिमाग से कुछ बहम निकालने होंगे।

        आज ज्यादातर लोग इसलिए गरीब नहीं हैं क्योंकि उन्हें सही सलाह नहीं मिल रही है, वे गरीब इसलिए हैं क्योंकि उन्हें गलत सलाह मिल रही है। For Example – आप ने सुना होगा कि स्कूल जाओ, अच्छे नंबर लाओ और नौकरी करो। लेकिन क्या आपको एक भी ऐसे व्यक्ति का नाम पता है जो नौकरी कर के अमीर बना हो ।

        सरकार के नियम कुछ इस तरह के हैं कि एक व्यक्ति नौकरी करते हुए कभी अमीर नहीं बन सकता। एक कर्मचारी सबसे पहले अपने पैसे कमाता है, फिर टैक्स भरता है और जो उसके पास बचता है उसमें अपनी जिन्दगी बिताता है। दूसरी तरफ एक बिजनेसमैन सबसे पहले पैसे कमाता है, उसे इंवेस्ट करता है और फिर जो उसके पास बचता है उस पर टैक्स देता है।

        आज के वक्त में बिजनेस से ज्यादा खतरा नौकरी में है। चाहे जो हो, एक कर्मचारी को ही हमेशा नुकसान सहना होगा। अगर कंपनी stock market में नीचे जा रही है तो वह अपने कुछ कर्मचारियों को निकाल देती है जिससे वो फिर से ऊपर आ जाती है। इसमें फायदा investor का होता है। आज के वक्त में नौकरी में बिल्कुल भी सुरक्षा नहीं है क्योंकि यहाँ पर आपके हाथ में कुछ भी नहीं होता। जब आपके बॉस को आप से काम नहीं रहेगा, तो वह आपको निकाल देगा।

3.अमीर बनने के लिए सबसे पहले आपको जानकारी हासिल करनी चाहिए।

        हर व्यक्ति यह जानता है कि अगर उसे तैरना नहीं आता तो उसे पानी में नहीं कूदना चाहिए। लेकिन पैसों के मामले में बहुत से लोग इस बात को भूल जाते हैं। वे बिना कुछ जाने stock market में अपना पैसा लगाने लगते हैं या खुद का बिजनेस शुरू करने निकल पड़ते हैं। इसलिए वे नाकाम हो जाते हैं। Investment सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन एक बार इसे समझ लेने के बाद आप अपनी किस्मत के दरवाजे खोल सकते हैं। इसमें सबसे पहले आपको नंबरों से प्यार करना सीखना होगा।

        For Example – हम price to equity ratio को लेते हैं। इसका मतलब होता है कि किसी जगह पर अपना पैसा invest करने के बाद आपको कितने समय में अपना सारा पैसा वापस मिल जाएगा। अगर आप किसी कंपनी में एक करोड़ रुपया लगाते हैं और उस investment पर आपको 20000 रुपए हर महीने के मिलते हैं तो इस हिसाब से कम से कम 22 साल के बाद आपको 1 करोड़ वापस मिल जाएगा और अब आप उससे फायदा कमा सकते हैं। यह investment फायदे का नहीं है क्योंकि 22 साल बहुत ज्यादा समय होता है और इस बात का कोई भरोसा भी नहीं है कि वो कंपनी bankrupt नहीं होगी या stock market के हालात हमेशा ऐसे ही रहेंगे।

        इसी तरह से आपको debt to equity ratio, risk reward ratio और तरह तरह की बातें पता होनी चाहिए। इसके बाद आपको यह जानना होगा कि asset और liability क्या होती है। Asset का मतलब वो चीजें जहाँ पर पैसे लगाने से आपको बाद में बहुत सारा पैसा वापस मिलता है और Liability का मतलब वो चीजें जो समय समय पर आपकी जेब से पैसे निकाल कर ले जा रही हैं। इस हिसाब से आपका घर, आपकी गाड़ी, आपका मोबाइल यह सब liability है। इन चीजों को तब तक मत खरीदिए जब तक आप अमीर नहीं हो जाते और अपना पैसा asset खरीदने में लगाइए।

4.Investor बहुत तरह के होते हैं और हर एक के पास अलग अलग खूबियां होती हैं।

        हर कोई एक जैसा नहीं होता। हर किसी की अपनी कुछ खूबियाँ और खामियां होती हैं। इसी तरह से Investor भी बहुत तरह के हो सकते हैं। यहाँ पर हम चार तरह के Investor की बात करेंगे। सबसे पहले Investor को हम Accredited investors कहते हैं। इस तरह के investors की सैलरी बहुत ज्यादा होती है या फिर इनके पास इतना ज्यादा पैसा होता है कि ये हर तरह की investment कर सकते हैं।

        इसके बाद आते हैं Qualified investor जो बिल्कुल Accredited investors की तरह ही होते हैं, लेकिन इनके पास जानकारी होती है जिसका इस्तेमाल कर के ये market को समझ सकते हैं या कुछ खास कंपनियों को चुनकर उनमें invest कर सकते हैं। Accredited investor के पास जानकारी नहीं होती है।

        ये दो तरह के investor हमेशा मार्केट या कंपनी के बाहर से काम करते हैं। इनका अपने asset पर बहुत कम control होता है। तीसरे किस्म का investor होता है Inside investor। Inside investor खुद का एक बिजनेस शुरू कर के फायदे कमाता है, वो समय के साथ उसे ज्यादा कीमती बना सकता है और जब चाहे तब बेच भी सकता है। उसका अपनी कंपनी पर पूरा काबू होता है।

        आखिर में आता है Sophisticated investor। यह भी खुद की कंपनी शुरू करता है लेकिन साथ ही साथ यह दूसरी कंपनियों को बाहर से जाँचना भी जानता है। वह जानता है कि किस कंपनी में अपना पैसा लगाने से वो ज्यादा पैसे कमा सकता है। उसे पता होता है कि किस तरह से वह सरकार के नियमों को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर सकता है।

5.एक Inside investor बनकर आप अपने investment career की शुरुआत कर सकते हैं।

        बिजनेस का नाम सुनकर एक middle class आदमी के अंदर जो सबसे पहला शब्द आता है वो है फंड। उसे लगता है कि उसके पास इतना पैसा या समय है ही नहीं कि वो खुद का बिजनेस शुरू कर सके। वो सारा दिन किसी दूसरी कंपनी में काम करता है ताकि वो अपने घर के खर्च चला सके। तो आखिर वो एक बिजनेस की शुरुआत कैसे करे?

        आप अपने बिजनेस की शुरुआत पार्ट टाइम में कर सकते हैं। हर बिजनेस को शुरू करने के लिए पैसों की जरूरत नहीं होती है। आज के वक्त में आप एक Website से पैसे कमा सकते हैं जिसे बनाने में ज्यादा से ज्यादा पाँच हजार रुपए लगते हैं। अपनी Website को आप पार्ट टाइम में अपने घर पर बैठ कर चला सकते हैं।

        बहुत से लोगों ने अपना बिजनेस पार्ट टाइम में शुरू किया था। Michael Dell ने Dell कंपनी की शुरुआत तब की थी जब वे एक university में पढ़ रहे थे। जब उनके दोस्त पार्टी कर रहे होते तो वे अपने कमरे में बैठ कर एक Empire बनाने की planning कर रहे होते थे।

        एक बार जब आपका बिजनेस अच्छे से काम करने लगे तब आप उसकी मदद से बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते हैं और साथ ही समय आने पर उसे अच्छे फायदे में बेच भी सकते हैं। बहुत से लोग कभी शुरुआत नहीं करते क्योंकि उन्हें लगता है कि वे नाकाम हो जाएंगे, लेकिन शुरुआत ना कर के वे पहले से ही नाकाम हैं।

6.एक बिजनेस शुरू करने से पहले आपको एक अच्छा लीडर बनना होगा।

        आप जितने अच्छे लीडर होंगे, आप अपने बिजनेस को उतना ज्यादा आगे तक लेकर जा सकते हैं। इसके लिए आपको तीन चीजों की जरूरत होगी –

        सबसे पहले आता है – मिशन। इसका मतलब आप के बिजनेस का काम क्या है, उसके होने का मकसद क्या है। अगर आप बिजनेस सिर्फ पैसे कमाने के लिए कर रहे हैं तो आप ऐसा कभी नहीं कर पाएंगे। Amazon का मकसद था दुनिया की सबसे बड़ी e-commerce site बनना जहाँ पर एक व्यक्ति अपने जरूरत की हर चीज़ पा सके। आज वो वाकई दुनिया की सबसे बड़ी e-commerce site बन गई है।

        इसके बाद आपको एक टीम की जरूरत होगी। बिना टीम का कोई लीडर नहीं होता है। आपको यह बात समझ जाना चाहिए कि आप सब कुछ नहीं कर सकते हैं। आपको अलग अलग तरह के काम करवाने के लिए एक बहुत कुशल टीम की जरूरत पड़ेगी। इसके बाद आता है एक लीडर। एक लीडर वो नहीं होता जो सबसे ज्यादा जानता है या सबसे बेहतर होता है। एक लीडर वो होता है जो लोगों से बेहतर से बेहतर तरीके से काम करवा कर उन्हें उनकी कीमत का एहसास दिला सके।

7.एक अच्छा बिजनेसमैन बनने के लिए आपको बात चीत करना और अपने सामान को बेचना आना चाहिए।

        एक कामयाब बिजनेसमैन की सबसे बड़ी खूबी होती है कि वे बात चीत करने में बहुत अच्छे होते है। उनके पास वो ताकत होती है जिसकी मदद से वे ज्यादा से ज्यादा लोगों से अपनी बात मनवा सकते हैं और इसी ताकत का इस्तेमाल कर के वे एक अच्छे लीडर बनते हैं।

        अब सवाल यह आता है कि किस तरह से आप अपने बात चीत करने के तरीके को सुधार सकते हैं? इसके लिए सबसे अच्छा रास्ता होगा कि आप एक नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में कुछ साल काम कर लीजिए। इस कंपनी में बहुत से ऐसे program होते हैं जो यहाँ के Salesmen को कुछ सालों में बहुत अच्छे से बात करना सिखा देते है। इसकी मदद से वे अपने product की खूबियों को अपने ग्राहक से बाँट पाते है और साथ ही बिना डरे किसी से भी बात कर पाते है। अगर आप शर्मीले किस्म के व्यक्ति हैं तो शुरुआत करने के लिए यह एक बहुत अच्छी जगह हो सकती है।

        इसके बाद आपको अपनी body language और अपने बोलने के तरीके पर ध्यान देना होगा। आप सिर्फ यह मत देखिए कि आप क्या बोल रहे हैं बल्कि यह भी देखिए कि आप उसे किस तरह से बोल रहे हैं और बोलते वक्त आपके बोलने का तरीका कैसा है। इसके लिए आप बोलते वक्त कैमरे में खुद की रिकॉर्डिंग कर सकते हैं। बाद में उस वीडियो को देखिए और खुद तय कीजिए कि अगर आप कहीं पर किसी को इस तरह से बोलते हुए सुनेंगे तो आपको कैसा लगेगा। आप अलग अलग जगहों पर बोलने की कोशिश कीजिए और लोगों से पूछिए कि आपको खुद में क्या सुधार करना चाहिए।

8.खुद का बिजनेस शुरू कर लेने के बाद वक्त आ गया कि आप एक sophisticated investor बनें।

        एक बिजनेस मैन बनने के बाद आपके पास इतना पैसा होगा कि आप अलग अलग तरह के investment कर सकें। यहाँ तक पहुंचने के बाद आपके पास बहुत सारी जानकारी भी होगी। इस जानकारी को इस्तेमाल कर के आप या तो अपने बिजनेस को आगे लेकर जा सकते हैं, या फिर एक sophisticated investor बन सकते हैं। 

        For Example – मान लीजिए कि बिल और जेन नाम के दो लोग हैं जो एक restaurant चलाते हैं। वे दोनों बहुत मेहनत से काम करते हैं, सारे टैक्स भरते हैं और restaurant को खुद संभालते हैं। लेकिन अगर एक ग्राहक उनका खाना खाकर बीमार हो जाता है और उन पर केस कर देता है तो क्योंकि उन्होंने सब कुछ खुद संभाल रखा है, वे सब कुछ खो देंगे।

        दूसरी तरफ एक sophisticated investor यह जानता है कि अगर उसके पास दो Corporation होंगे तो उनकी मदद से वो अपने रिस्क को कम कर सकता है। एक Corporation restaurant की building को संभालेगा, जिसकी वजह से अगर एक ग्राहक उन पर केस करता भी है तो भी उनकी building सुरक्षित है। इस Corporation का इस्तेमाल कर के वे सबसे पहले अपनी इनकम से Insurance भर सकते हैं, सारे खर्चे देख सकते हैं फिर जो पैसे बच जाए, उन पर वे टैक्स भर सकते हैं। इस तरह से वे अपना बहुत सारा पैसे बचा सकते हैं। एक अमीर आदमी पैसे कमाने के बाद सबसे पहले उसे अलग अलग जगह पर invest करता है ताकि उसे पैसो के लिए काम ना करना पड़े। वो अपने पैसों को real estate में, stocks में या bonds में invest करता है जिससे उसका पैसा उसके लिए काम करता है और समय समय पर उसे अपने investment पर Return मिलता रहे।

👆 यह Summary है “Rich Dad’s Guide to Investing” by Robert Kiyosaki Book की, यदि Detail में पढ़ना चाहते है तो इस Book को यहां से खरीद सकते है 👇

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *